Menu Pages

1 April 2020

नजरों से नजर मिली और आपने कहा…

“ याद है हम पहले कहां मिले थे ! 
ट्रेन रुकी, खिड़की खुली…
नजरों से नजर मिली और आपने कहा…

अल्लाह के नाम पे कुछ दे दे रे बाबा ! ”
😝😝😝😝😝😝😝😝😝😝
 whatsapp